Trikal Darshi Rajender Bhargav

Mobile +91 9872827907

शनि और सूर्य एक साथ

शनि_और_सूर्य_एक_साथ
कुंडली में शनि सूर्य के योग को शुभ नहीं कहा जाता है। यह युति जीवन में संघर्ष बढ़ाने वाली मानी जाती है।
शनि सूर्य एक साथ होने पर व्यक्ति को आजीविका के लिए संघर्ष का सामना करना पड़ता है।
करियर की शुरूआत ही संघर्षपूर्ण होती है।
शनि सूर्य के अंशों में जितनी निकटता होगी,
आजीविका को लेकर उतने ज्यादा उत्तर चढाव मिलते हैं।
यह योग पिता के सुख में भी कमी करता है या आपस में वैचारिक मतभेद बनाता है,
लेकिन एक बात और भी माननी होगी कि अगर शनि और सूर्य की ये युति कुंडली के किसी शुभ भाव में बन जाए तो ऐसे में लोग शुरूआती संघर्ष के बाद अंततः सरकारी नौकरी भी पा जाते हैं।